Monday , November 20 2017
Home / India / टीम से बाहर चल रहे दिग्गज बल्लेबाज़ गौतम गंभीर का एक बार फिर दिखा रोद्र रूप, कोच को सुनाई खरी-खोटी

टीम से बाहर चल रहे दिग्गज बल्लेबाज़ गौतम गंभीर का एक बार फिर दिखा रोद्र रूप, कोच को सुनाई खरी-खोटी

भारतीय टीम के दिग्गज बल्लेबाज़ गौतम गंभीर हमेशा से ही अपने गुस्से के लिए चर्चा में रहे है. फिर चाहे वो विरोधी टीम के खिलाड़ी हो या फिर आईपीएल के दौरान अपने ही देश के साथी, गंभीर बार-बार अपने आक्रामक रवैये के कारण सुर्ख़ियों का हिस्सा रहे है.
कुछ इसी तरह की घटना एक बार फिर देखने को मिली, जब गंभीर ने दिल्ली के नए कोच के.पी. भास्कर पर अपना गुस्सा दिखाते हुए उन्हें खूब खरी खोटी सुनाई. हालाँकि गंभीर ने ऐसा क्यों किया इसका कारण फ़िलहाल सामने नहीं आया है, लेकिन ऐसा माना जा रहा है, कि भास्कर को कोच नियुक्त किए जाने के बाद से गंभीर उनसे खफा थे.आखिरी दो टेस्ट मैच के लिए इस दिन होगा टीम इंडिया का चयन, चोटिल सलामी बल्लेबाज़ों के कारण गंभीर और पार्थिव पर सभी की नज़रे
गंभीर ने सोमवार को खेले गए विजय हज़ारे ट्रॉफी के मैच के बाद ड्रेसिंग रूम में सभी खिलाड़ियों के सामने गंभीर टीम के नए कोच पर बरस पड़े. गंभीर ने भास्कर पर कई निजी कमेंट किये, जिसकी उम्मीद वहा मौजूद किसी भी खिलाड़ी को उनसे नहीं थी.
दरअसल गंभीर उनके पसंदीदा कोच के न चुने जाने से काफी नाराज़ थे. पिछले सीजन भी जब अजय जडेजा को दिल्ली का कोच नियुक्त किया गया था, दिल्ली के एक पूर्व स्टार खिलाड़ी ने कहा,

“गंभीर एक वर्ल्डकप विजेता है, उन्हें युवा खिलाड़ियों के लिए रोल मॉडल की भूमिका निभानी चाहिए.”मुरली विजय के चोटिल और अभिनव मुकुंद के शर्मनाक प्रदर्शन के बाद एक बार फिर गौतम गंभीर पर होंगी चयनकर्ताओ की निगाहें
गंभीर ने भास्कर के क्रिकेट करियर पर सवाल उठाते हुए, उन्हें काफी बुरा भला सुनाया. भास्कर ने केवल 95 फर्स्टक्लास मैच ही खेले है. इतना ही नहीं गंभीर ने उनके बेटे को भी इस सब के बीच शामिल करते हुए उन्हें भी काफी कुछ कहा, रुशील भास्कर दिल्ली और हरियाणा की जूनियर टीम के लिए खेल चुके है.
अब गंभीर का ऐसा रूप देखने के बाद डीडीसीए के सामने काफी मुश्किल खड़ी हो गयी है और गंभीर की टीम इंडिया में वापसी की उम्मीदें भी इस घटना के बाद खत्म हो सकती है.
loading...

About sushil singh

Check Also

fathers day 2017 2018 gif image

fathers day special poem for papa poem in hindi

special poem for papa सपने तो मेरे थे पर उन्हें पूरा करने का रास्ता कोई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *